Dardiya Karata Kalai Lyrics | Pramod Premi Yadav Bolbam Song

Dardiya Karata Kalai Lyrics

Dardiya Karata Kalai Lyrics:-दरदिया…काहे खाती आवेला सावनवा, उबिया देल राजा जी मनवा, (उबिया देल राजा जी मनवा, ) ऐ हो, काहे खाती आवेला सावनवा,

Dardiya Karata Kalai Lyrics

Dardiya Karata Kalai Lyrics

दरदिया…

काहे खाती आवेला सावनवा,
उबिया देल राजा जी मनवा,
(उबिया देल राजा जी मनवा,)

 

Music~~~~~~~~~

 

ऐ हो,
काहे खाती आवेला सावनवा,
उबिया देल राजा जी मनवा,
तू त लेल मज़ा पि पि के गांजा,
जाल बलम पगलाई,

दरदिया करता कलाई,
हई भंगिया हमसे न पिसाई,
दरदिया करता कलाई,

देह दुबर हो गइल,
मुह उजर हो गइल,
देह दुबर हो गइल,
मुह उजर हो गइल,

 

Music~~~~~~~~~

 

कइसे ऐ पियऊ जिये ल,
जब आतना भंगिया पिए ल,

नशा में दशा बिगड़ल जाता,
धइले बा तोहरा बाई,

दरदिया करता कलाई,
हई भंगिया हमसे न पिसाई,
दरदिया करता कलाई,

आउर बम लोग भी त,
भोला भक्ति में झुमेला,
आउर बम लोग भी त,
भोला भक्ति में झुमेला,

चिलम के धुआ जब सूंघ ले ल,
तोहरा न कुछऊ सुझेला.

दरदिया करता कलाई,
हई भंगिया हमसे न पिसाई,
दरदिया करता कलाई,

काहे खाती आवेला सावनवा,
उबिया देल राजा जी मनवा,
तू त लेल मज़ा पि पि के गांजा,
जाल बलम पगलाई,

दरदिया करता कलाई,
हई भंगिया हमसे न पिसाई,
दरदिया करता कलाई,

Tital : Dardiya Karta Kalai
Song : Dardiya Karta Kalai
Singer : Pramod Premi Yadav
Geet : Nitesh Thakur
Music : Shankar Singh
Director : Rajesh Gupta
Copyright : Pramod Premi Entertainment
Digital Managed By : Sangam Audio Video

 

RECENT POSTS

Leave a Reply

Your email address will not be published.

20 − 17 =